Pages

Thursday, April 23, 2015

जो हम ने दास्ताँ अपनी सुनायी, आप क्यों रोये ? (राजा मेहंदी अली खान)

जो हम ने दास्ताँ अपनी सुनायी, आप क्यों रोये ? 
तबाही तो हमारे दिल पे आयी, आप क्यों रोये ? 

हमारा दर्द-ओ-गम हैं ये, इसे क्यों आप सहते हैं ? 
ये क्यों आँसू हमारे, आप की आँखों से बहते हैं ? 
ग़मों की आग हम ने खुद लगाई, आप क्यों रोये ? 

बहोत रोये मगर अब आप की खातिर ना रोयेंगे 
ना अपना चैन खोकर, आप का हम चैन खोएंगे 
क़यामत आप के अश्कोने ढाई, आप क्यों रोये ? 

न ये आँसू रुके तो, देखिये फिर हम भी रो देंगे 
हम अपने आँसुओं में चाँद तारो को डुबो देंगे 
फना हो जायेगी सारी खुदाई, आप क्यों रोये?

गीतकार : राजा मेहंदी अली खान, गायक : लता मंगेशकर, संगीतकार : मदन मोहन, चित्रपट : वह कौन थी (१९६४) / Lyricist : Raja Mehdi Ali Khan, Singer : Lata Mangeshkar, Music Director : Madan Mohan, Movie : Woh Kaun Thi (1964)


No comments:

Post a Comment