Pages

Tuesday, June 23, 2015

मुतदारिक बहर के कुछ उदाहरण (212 212 212 212)

मुतदारिक बहर के कुछ उदाहरण (212 212 212 212). ગાલગા ગાલગા ગાલગા ગાલગા

(1)
आप क्यों हैं ख़फ़ा, कुछ पता तो चले 
मेरी क्या है ख़ता, कुछ पता तो चले

मैं तो राज़ी हूं तेरी रज़ा में, मगर
तेरी क्या है रज़ा,कुछ पता तो चले
                                                 - दीक्षित दनकौरी

(2)
રોજ એને ઉડાડો, ફરી આવશે,
કોણે રોપી, કબૂતરમાં આ લાગણી?
                                        - સુનીલ શાહ

No comments:

Post a Comment